Fungal infection एक प्रकार का वायरस है जिससे कि शरीर मे दाग, लाल धब्बे, सफेद धब्बे आदि जैसे खुजली वाले दाग हो जाते है।फंगल जोकि एक शब्द फंगस से निकला है।Fungus एक प्रकार का कीटाणु होते है जोकि बहुत समय तक रखे हुए खाने पर जमा हो जाते है और उस खाने को बुरी तरह से सड़ा देता है।इसी प्रकार से ही फंगल इंफेक्शन एक शरीर मे होता है तो वह धीरे धीरे पूरे शरीर मे फैलने लगता है और उस व्यक्ति के सम्पर्क में कोई अन्य व्यक्ति आता है तो उसको भी इस इंफेक्शन से खतरा हो जाता है।

यह ज्यादा तर ऐसे अंग में होता है, जहाँ पर पसीना अधिक होता है।ज्यादा तर ऐसे गुप्त अंग जिसमे यह इंफेक्शन होता है वहाँ से शरीर के ओर भी हिस्सो में इस इंफेक्शन को फैलने का खतरा होता है।इसके बारे में ओर भी अधिक जानने के लिए आप नीचे आर्टिकल को पूरा पड़े।आइये सुरु करते है आज का आर्टिकल।


Fungal infection क्या है ?

शरीर मे लाल रंग के दाग, सफेद बड़े धब्बे, गुप्त अंग में खुजली आदि सभी फंगल इन्फेक्शन के लक्षण है।यह नामी ओर गर्मी के कारण होने वाली एक बीमार है जिसके कारण पूरे शरीर मे खुजली और गहरे रंग के दाग आ जाते है।फंगल, फंगस से निकला हुआ एक शब्द है जिसका अर्थ है "किसी चीज को खराब कर देना"।

अतः फंगल भी फंगस की तरह कार्य करता है जहां फंगस खाने को खराब कर देता है, जिससे की खाने पर सफेद गोल गोल दाग से आ जाते हैं।उसी प्रकार फंगल इन्फेक्शन भी इंसानों के शरीर पर उसी प्रकार कार्य करता है और शरीर पर बड़े निशान जिस में खुजली होती है वह आ जाते हैं।


Fungal Infection के प्रकार | Types of Fungal Infection

फंगल इंफेक्शन बहुत से प्रकार के होते हैं उनको पता आप अपनी शरीर पर होने वाले परिवर्तनों से पता कर सकते हैं जिसमें कि आपके शरीर पर बहुत से दाग आदि बीमारियां हो जाती है जिससे आपकी शरीर पर खुजली और धब्बे होने लगते है जिसका एक सिम्टम्स फंगल इंफेक्शन ही है अर्थात फंगल इन्फेक्शन निम्न प्रकार के हो सकते हैं:-

  • सफेद धब्बे वाले फंगल इंफेक्शन।

  • काले धब्बे वाले फंगल इंफेक्शन।

  • लाल धब्बे ओर दाने वाले फंगल इंफेक्शन।

  • गुप्त अंग वाले फंगल इंफेक्शन।


फंगल इंफेक्शन होने के लक्षण | Symptoms of Fungal Infections

फंगल इंफेक्शन की लक्षण बहुत से प्रकार के हो सकते हैं जिसके बारे में हम आपको नीचे एक सूची दे रहे हैं जहां से आप उनको पढ़कर बहुत आसानी से पता लगा पाओगे कि यह लक्षण फंगल इंफेक्शन के हैं या नहीं।बहुत से लोग खुजली,पीत को ही फंगल इंफेक्शन समझते हैं परंतु यह दोनों एक दूसरे से बहुत विपरीत है, जोकि खुजली और पीत 1 से 2 दिन के अंदर या ज्यादा से ज्यादा 1 हफ्ते के अंदर ठीक हो जाता है, उसकी दूसरी ओर फंगल इन्फेक्शन कई महीनों सालों तक भी ठीक नहीं होता तो आइए जानते हैं फंगल इन्फेक्शन के लक्षण:-

  • शरीर पर बहुत अधिक खुजली का होना।

  • शरीर पर सफेद धब्बे होना जिसमें खुजली होती हो।

  • शरीर पर लाल धब्बे होना जिसमें खुजली होती हो।

  • शरीर पर मोटे मोटे चक्के बनना जिनसे खुजली अधिक होती हो ओर दर्द होता हो। 

  • शरीर के गुप्त अंगो में अधिक खुजली और धब्बे होना।

  • काले दाग का बनना और खुजली होना।

  • काले बड़े बड़े दाग का होना तथा उसमें से खून निकलना।

  • उंगलियों के बीच में खाल उतरने जैसे निशान का होना।


फंगल इंफेक्शन से कैसे बचा जा सकता है ? 

फंगल इन्फेक्शन होने से बहुत से प्रकार से बचा जा सकता है जिसके बारे में नीचे बताया हुआ है।इससे बहुत से लोग ग्रषित होते जा रहे है इसका प्रभाव ज्यादा तर गर्मी के मौसम में अधिक होता है।फंगल गर्मी में होने वाली एक बीमारी है शरीर मे नामी ओर पसीने के कारण मनुष्य के शरीर मे बैक्टीरिया इखट्टे हो जाते है जोकि बाद में चलकर फंगल इंफेक्शन का रूप ले लेते है, आइये जानते है कि इससे किस प्रकार बचा जाए:- 

  • जब भी आप कपड़े पहनो तो उनको गिला न रखे पूरी तरह से सूखा कर जब पहने।

  • धूप में अपने कपड़ों को पूरी तरह से सुखाए।जिससे की उसमे उपस्थित सभी बैक्टिरिया मर जाये।

  • किसी ऐसे व्यक्ति के समीप न जाये जोकि इस बीमारी से पहले से ग्रहस्त हो।

  • रोजाना नहाए ओर अपने गीले तोलिये को दुप में अवश्य सुखाए।


फंगल इंफेक्शन होने के कारण | 

फंगल इन्फेक्शन बहुत आम बीमारी है जोकि किसी को भी हो सकती है वैसे ज्यादा तर यह बीमारी किसी फंगल इंफेक्शन से ग्रहसित लोग से ही दूसरे में जाती है।यह बीमारी किस किस कारण से होती है उसके बारे में हम नीचे पढ़ने वाले है तो आइये जानते है।

  • यह बीमारी किसी दूसरे व्यक्ति से भी हमे आ सकती है जोकि फंगल इंफेक्शन से ग्रहस्त हो।

  • शरीर मे अधिक समय तक नामी आने के कारण भी यह बीमारी खुजली के बाद फंगल इन्फेक्शन का रूप ले लेती है।

  • इसके होने का एक कारण यह भी है कि हम आने कपड़ो को पूरी तरह न सूखा कर गिला ही पहन लेते है।

  • अन चाहे जगह यह बीमारी आदिक फैलती है जहाँ पर पसीना जल्दी आता है।


फंगल इंफेक्शन होने पर डॉक्टर से इलाज कब करवाये |

फंगल की बीमारी होने पर आपको डॉक्टर के पास एक दम जाना चाहिए क्योंकि यह ऐसी बीमारी है जिसका आप जितना इलाज देर से करोगे यह बीमारी उतनी ज्यादा बढ़ती जाएगी और इसको ठीक होने में भी बहुत समय लगेगा।


FAQs 

फंगल इंफेक्शन हो गया है क्या करूँ ?

फंगल इंफेक्शन हो जाने पर आपको इस बात का ध्यान रखे कि आपको पसीना न आये कर आप मीठा भी खाना बंद करदे ओर एक अच्छे से skin specialist को दिखाए।

फंगल इंफेक्शन हो गया है और डॉक्टर से इलाज के बाद भी खत्म नही हुआ ?

डॉक्टर के इलाज के दौरान आपको बहुत सी बातों का ध्यान भी रखना चाहिए, जिसमे पहला है कि आपको पसीना बिल्कुल भी न आ पाए और दूसरा आपको मीठा नही खाना है।

मेरे शरीर के अंधुनि जगह पर लाल धब्बे हो रहे है क्या करूँ ?

लाल धब्बे भी फंगल इंफेक्शन की ही पहचान है अगर आपके यह लाल धब्बे अभी ही होना सुरु हुए है तो आप जल्द से जल्द डॉक्टर को दिखाए क्योंकि यह बीमारी बढ़ जाएगी तो इसको काफी समय लग जाता है सही होने में। 


Conclusion

आज हमने मेडिकल से जुड़ी एक बीमारी के उप्पर बात की है जिसका जानना आपको भी बहुत जरूरी है जिसका नाम है Fugal infection क्या है ? इससे कैसे बचें,लक्षण, कारण आदि के बारे में आज के इस आर्टिकल में हमने बात की है।आप यह आर्टिकल ऊपर जाकर पढ़ सकते है जिससे कि आपको भी इस बीमारी से बचा जा सके, क्योंकि यह बीमारी बहुत बढ़ती जा रही है।

अपने आज का हमारा यह आर्टिकल देखा है तो इसको आप सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते है जिससे कि आपके दोस्तों और फैमिली के लोगो को भी इस विषय मे जानकारी मिल सकेगी ओर यह लोग भी इससे होने वाली बीमारी से बच सकेंगे।

Post a Comment